गंगोत्री मंदिर, गंगोत्री, उत्तराखंड

स्थल

  • उत्तराखंड के उत्तर काशी ज़िले से १०० किलो मीटर दूरी पर गंगोत्री मंदिर स्थित है |
  • गंगोत्री उत्तराखंड राज्य में स्थित गंगा नदी के उद्गम के रूप में माना जाता है यह चार धाम यात्रा का दूसरा पवित्र पड़ाव है |
  • जो कि यमुनोत्री धाम के बाद आता है |
  • गंगोत्री मंदिर भागीरथी नदी के तट पर स्थित है |
  • गंगा का मंदिर तथा सूर्य , विष्णु और ब्रह्मकुंड आदि पवित्र स्थल यही पर है |

पौराणकि कथा

  • भगवान् श्री राम के पूर्वज , रघुकुल के चक्रवर्ती राजा भगीरथ ने यही पर एक पवित्र शिलाखंड पर बैठ कर भगवान् भोलेनाथ की प्रचंड प्रार्थना थी |
  • प्राचीन इतिहास के अनुसार देवी गंगा ने इसी स्थान पर आकर भूमि का स्पर्थ किया था |
  • एक अन्य मान्यता के अनुसार पांडवो ने इसी स्थान पर महाभारत के युद्ध में मारे गए अपने परिजनो की आत्मा की शान्ति के लिए यज्ञ करवाया था |

मंदिर निर्माण और मूर्ति

  • इस जगह पर शंकराचार्य जी ने गंगा देवी की मूर्ति की स्थापना की थी |
  • जहाँ इस मूर्ति की स्थापना की गयी थी वही पर गंगोत्री मंदिर का निर्माण १८ शताब्दी में किया गया था |
  • गंगोत्री मंदिर बहुत सुन्दर सफ़ेद ग्रेनाइट के चमकदार २० फ़ीट ऊँचे पत्थरों से बना है |
  • गंगोत्री मंदिर के समीप शाम होते ही जब गंगा नदी का जलस्तर कम हो जाता है उस समय पवित्र शिवलिंग के दर्शन होते है जो कि गंगोत्री नदी में जल मगन है |

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *